बाराबंकी शहर को एक राजभर राजा ‘जस’ ने बसाया था। बाराबंकी शहर का इतिहास।

बाराबंकी शहर को एक राजभर राजा 'जस' ने बसाया था। बाराबंकी शहर का इतिहास।

0
186

इतिहास : आज एक ऐसे भर राजा के इतिहास पर चर्चा करने जा रहे हैं जिन्होंने बाराबंकी शहर को बसाया था उनका नाम जस भर राजपूत था। बाराबंकी को 10 वीं सदी में नवाबगंज के नाम से जाना जाता था बाराबंकी शहर की विधानसभा अभी भी नवाबगंज के नाम से ही है। बाराबंकी एक ओर जहां परिजात वृक्ष के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। इस संस्थान का पुराना नाम जसनोल था जो भर राजपूत राजा जस के नाम पर प्रसिद्ध था।

बाराबंकी उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित प्रमुख शहर और लोकसभा क्षेत्र है। सिद्धौर तथा कुंतेश्वर के प्राचीन मंदिरों के लिए बाराबंकी ज़िला उल्लेखनीय है। इस स्थान का प्राचीन नाम ‘जसनौल’ कहा जाता है। इसे 10वीं शदी में ‘जस’ नामक भर राजपूत ने बसाया था।

PicsArt_04-30-06.47.15 बाराबंकी शहर को एक राजभर राजा 'जस' ने बसाया था। बाराबंकी शहर का इतिहास।
राजभर राजा जस का इतिहास

लखनऊ से पूर्व दिशा में 29 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बाराबंकी उत्तर प्रदेश राज्य का एक ज़िला है। यह ज़िला उत्तर मे घाघरा नदी, पूर्व में फैजाबाद ज़िला, दक्षिण में सुल्तानपुर, रायबरेली और लखनऊ से घिरा हुआ है।

ऐतिहासिक दृष्टि से भी यह काफ़ी महत्त्वपूर्ण स्थल है। इस जगह पर कई भर राजशाही राजाओं ने लम्बे समय तक शासन किया था। बाराबंकी जहाँ एक ओर परिजात के वृक्षों के लिए विश्व में प्रसिद्ध है, वहीं दूसरी ओर यह महादेवा मन्दिर, कोटव धाम मंदिर और सतरिख के लिए भी विशेष रूप से जाना जाता है। राजभर राजाओं की जितनी सराहना की जाए उतना ही कम है।

PicsArt_04-30-06.52.34-1024x1024 बाराबंकी शहर को एक राजभर राजा 'जस' ने बसाया था। बाराबंकी शहर का इतिहास।
Rajbhar Raja Jas

जय राजभर समाज जय भारत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here