सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा बीजेपी सरकार मजदूर विरोधी,अब भाजपा का पतन निश्चित

सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा बीजेपी सरकार मजदूर विरोधी,अब भाजपा का पतन निश्चित

0
361

उत्तर प्रदेश: ओमप्रकाश राजभर ने कहा BJP सरकार मजदूर-विरोधी है, श्रमिक-कानूनों में बदलाव करके उनके भविष्य और जीवन के साथ खिलवाड़ करने का कार्य कर रही है। श्रमिकों को एक बार फिर गुलामी और शोषण की ओर ढकेलने का कार्य कर रही है। मजदूर इस समय कठिन दौर से गुज़र रहे है और सरकार उनको गुलाम बनाना चाहती है अब भाजपा का पतन निश्चित।

आप को बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने 7 मई को लेबर कानूनों में बदलाव की घोषणा की थी। योगी सरकार ने अगले 1000 दिन के लिए लेबर कानूनों में कई अहम बदलाव किये हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने इसके लिए उत्तर प्रदेश टेंपरेरी एग्जेम्प्शन फ्रॉम सर्टेन लेबर लॉज ऑर्डिनेंस 2020 को मंजूरी दे दी है।

श्रम कानून में किए गए प्रमुख बदलाव क्या है

1. संसोधन के बाद यूपी में अब केवल बिल्डिंग एंड अदर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स एक्ट 1996 लागू रहेगा।

2. उद्योगों को वर्कमैन कंपनसेशन एक्ट 1923 और बंधुवा मजदूर एक्ट 1976 का पालन करना होगा।

3. उद्योगों पर अब ‘पेमेंट ऑफ वेजेज एक्ट 1936’ की धारा 5 ही लागू होगी।

4. श्रम कानून में बाल मजदूरी व महिला मजदूरों से संबंधित प्रावधानों को बरकरार रखा गया है।

5. उपर्युक्त श्रम कानूनों के अलावा शेष सभी कानून अगले 1000 दिन के लिए निष्प्रभावी रहेंगे।

6.औद्योगिक विवादों का निपटारा, व्यावसायिक सुरक्षा, श्रमिकों का स्वास्थ्य व काम करने की स्थिति संबंधित कानून समाप्त हो गए।

7. ट्रेड यूनियनों को मान्यता देने वाला कानून भी खत्म कर दिया गया है।

8. अनुबंध श्रमिकों व प्रवासी मजदूरों से संबंधित कानून भी समाप्त कर दिए गए हैं।

9. लेबर कानून में किए गए बदलाव नए और मौजूदा, दोनों तरह के कारोबार व उद्योगों पर लागू होगा।

10.उद्योगों को अगले तीन माह तक अपनी सुविधानुसार शिफ्ट में काम कराने की छूट दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here