पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों को लेकर सुभासपा का धरना प्रदर्शन, अगर कम नहीं हुआ तो 29 जून को फिर होगा धरना प्रदर्शन

0
261

भाजपा सरकार में डीजल और पेट्रोल के दामों में रिकार्ड बढ़ोत्तरी के साथ सरकार की जनविरोधी नीतियों को लेकर आज लखनऊ के पुराना किला सदर में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (भागीदारी संकल्प मोर्चा )के राष्ट्रीय अध्यक्ष मा.ओमप्रकाश राजभर ने अपने विधायकों के साथ निकम्मी सरकार के तानाशाही रवैये के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया।

ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि यह सरकार गरीबों के साथ सौतेला रुप अख्तियार कर लिया है। गरीब, मजदूर, कमजोर, किसान और नौजवान की आवाज को सरकार खुलेआम दबाने का कार्य कर रही है।

भागीदारी संकल्प मोर्चा-सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी इनके आवाजों को दबने नहीं देगी और जब तक बंचितों गरीबों को उनका अधिकार नहीं मिल जाता और महंगाई कम नही होती है तब तक हम संघर्ष करते रहेंगे।

माननीय ओम प्रकाश राजभर ने यह प्रोटेस्ट सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करते हुए धारा 144 का पूर्ण पालन करते हुए साइकिल से विधानसभा जाना चाहते थे,सरकार के इशारे पर पुलिस प्रशासन ने इसमें भी व्यवधान उत्पन्न करने का काम किया।

अब गरीब कमजोर जिसके पास साइकिल और बैलगाड़ी है वह अपनी बात इस सरकार में नहीं कह सकता। सारे नियम कानून भाजपा की सरकार में सिर्फ गरीब कमजोर के ऊपर ही लागू है। डीज़ल-पेट्रोल के दाम कम नही हुए तो सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी 29 जून को पूरे प्रदेश के सभी गांव में केंद्र / प्रदेश सरकार के जन विरोधी नीतियों के खिलाफ निम्न मुद्दों पर

●डीजल पेट्रोल की बढ़ती कीमत को तत्काल वापस लिया जाए,

●बेरोजगार नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराई जाए,

●किसानों को खाद बीज व कीटनाशक दवाएं उचित मूल्य पर उपलब्ध कराई जाए,

●किसानों को उनकी उपज पर समर्थन मूल्य दिलाना सुनिश्चित किया जाए,

◆छोटे व मझोले किसानों दुकानदारों व्यापारियों का कर्ज एवं बिजली का बिल माफ किया जाए,

●लॉकडाउन के कारण गरीब किसान व मजदूरों की आर्थिक स्थिति अत्यंत खराब हो गई इसलिए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की मांग है कि उनके बच्चों से अप्रैल मई व जून की फीस की प्रतिपूर्ति सरकार द्वारा किया जाए,

●गांव में बिजली का बिल फर्जी तरीके से हजारों रुपये का आ गया है उसको तत्काल माफ किया जाए,को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन होगा।

सरकार के नक्शे कदम पर ही प्रदेश की पुलिस प्रशासन भी चल रही है जबकि पुलिस प्रशासन के हितों की आवाज सदन में अगर कोई नेता उठाता है तो उस नेता का नाम ओमप्रकाश राजभर है बाकी किसी की हिम्मत नहीं है कि पुलिस प्रशासन के हित की बात सदन में कोई कह सकें।
बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, सबका साथ सबका विकास और जीरो टॉलरेंस की खोखला एवं झूठा नारा देने वाले भाजपा सरकार के खिलाफ यह आंदोलन अब रुकने वाला नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here