Home News यूपी सरकार के बजट से नाखुश ओमप्रकाश राजभर

यूपी सरकार के बजट से नाखुश ओमप्रकाश राजभर

50
0
Omprakash Rajbhar targeted BJP government on reservation
sbsp-2BOmprakash-2BRajbhar यूपी सरकार के बजट से नाखुश ओमप्रकाश राजभर
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं के साथ भेदभाव कर रही है- ओमप्रकाश राजभर
  •  सरकार पिछड़ों का ध्यान CAA और NRC पर कराकर शिक्षा, स्वास्थ्य , बेरोजगारी , मंहगाई से ध्यान भटकाने में लगी है 
  •  छात्र छात्राओं की संख्या के हिसाब से पिछड़ा वर्ग का बजट 2070 करोड़ रूपया होना चाहिए।
News: सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने उत्तर प्रदेश सरकार की बजट को लेकर बात करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अनूसूचित जाति , जनजाति , सामान्य वर्ग ,पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति हेतु बजट आवंटित किया गया है जिसमें सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या पूरे उत्तर प्रदेश में 7 लाख है। सामान्य वर्ग के लिए बजट 609 करोड़ रूपया की व्यवस्था सरकार द्वारा कराई गई वहीं पर पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या पूरे उत्तर प्रदेश में 21 लाख है। पिछड़े वर्ग के लिए सरकार द्वारा बजट मात्र 600 करोड़ धनराशि की व्यवस्था की गई है।
जबकि पिछले साल 2018-19 में छात्र छात्राओं की संख्या 18.5 लाख थी 2019-20 में पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या बढ़कर 21 लाख हो गई है। सरकार की निति है प्रति वर्ष 10% से 15% बजट बढ़ाने का प्रावधान है लेकिन बजट आवंटित 2019-20 में सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग का बजट बढ़ाने के बजाय 278 करोड़ रूपया कम कर दिया।जिसके वजह से 20% ही पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को शुल्क प्रतिपूर्ति सरकार दे रही है । वहीं पर सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राओं को 85% शुल्क प्रतिपूर्ति सरकार दे रही है।
अनुसूचित जाति/जनजाति के छात्र-छात्राओं का वार्षिक आय 2.5 लाख रूपया है  सामान्य वर्ग के छात्र-छात्राओं की आय 2 लाख है। ओमप्रकाश राजभर ने कहा सरकार दलितों के साथ भेदभाव क्यों कर रही है।
उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सामान्य वर्ग के वर्ष 2019-20 में 7 लाख छात्र छात्राओं को 609 करोड़ का बजट दिया है। उस हिसाब से पिछड़ा वर्ग के वर्ष 2019-20 में 21 लाख  छात्र-छात्राओं को 600 करोड़ बजट दिया है । जबकि छात्र छात्राओं की संख्या के हिसाब से पिछड़ा वर्ग का बजट 2070 करोड़ रूपया होना चाहिए।
पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं को आई. टी. आई. में 20 हजार , बी. काम में 10 हजार , बी. एड. में 30 हजार , बी. टेक और एम टेक में 50 हजार रूपया भाजपा सरकार दे रही है।वहीं पर सामान्य वर्ग को सभी पाठ्यक्रमों में 50 हजार प्रति छात्र छात्राओं को दे रही है।

ओमप्रकाश राजभर

अनुसूचित जाति के छात्रों करो विचार पिछड़ी जाति के नेता हैं लाचार ।सरकार व विपक्ष के किसी वर्ग के नेताओं का ध्यान आपकी तरफ नहीं है।।

उत्तर प्रदेश(भाजपा) सरकार से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी मांग करती है कि पिछड़े वर्ग के छात्र-छात्राओं की संख्या के हिसाब से 2070 करोड़ रूपया तत्काल बजट जारी करें नहीं तो पार्टी प्रदेश व्यापी आंदोलन करेगी। सरकार पिछड़ों का ध्यान CAA और NRC पर कराकर शिक्षा, स्वास्थ्य , बेरोजगारी , मंहगाई से ध्यान भटकाने में लगी है सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगी।
  1. उत्तर प्रदेश सरकार का वर्ष 2019-20 का बजट
  2. उत्तर प्रदेश सरकार का वर्ष 2019-20 का बजट हिंदी में डाउनलोड करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here