ओमप्रकाश राजभर से डरी भाजपा, भाजपाइयों ने सुभासपा का झंडा जलाया

भागीदारी संकल्प मोर्चा के बढ़ते जनाधार से भारतीय जनता पार्टी और उनके नेता इस कदर बौखला गए हैं कि सरेआम गुंडागर्दी पर उतारू हैं।

0
796

भदोही : भाजपा के कार्यकर्ताओं को अभी से डर सताने लगा है कि 2022 के चुनाव में सुभासपा उनके साम्राज्य को खत्म ना कर दे । भाजपाइयों का गुंडाराज देखने को मिला है जिला भदोही उत्तर प्रदेश में।

आप को बता दें भागीदारी संकल्प मोर्चा के बढ़ते जनाधार से भारतीय जनता पार्टी और उनके नेता इस कदर बौखला गए हैं कि सरेआम गुंडागर्दी पर उतारू हैं। इसका ताजा उदाहरण जनपद-भदोही, थाना-चोरी के ग्राम-अमवा खुर्द में देखने को मिला जहाँ भारतीय जनता पार्टी के लोगों द्वारा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं को घरों एवं छतों पर चढ़कर पुरुषों और महिलाओं को न सिर्फ बुरी तरह मारा पीटा गया बल्कि पार्टी का झंडा जलाकर जबरन भाजपा के झंडा को लगाने का फरमान जारी कर दिया गया और ऐसा न करने पर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी भी दिया गया। पीड़ित पक्ष जब शिकायत लेकर थाने पहुंचा तो पुलिस द्वारा शिकायत सुनने और यथोचित कार्यवाही करने के बजाय उल्टे पीड़ित पक्ष को गाली देकर थाने से भगा दिया गया।

आपको पता होगा कि अभी बीते विधानसभा सत्र में पुलिस विभाग की मूलभूत समस्याओं को माननीय ओमप्रकाश राजभर जी ने मुखर होकर विधानसभा में उठाया था। उसके बाद भी पुलिस विभाग की इस प्रकार की दोहरी मानसिकता उनके सत्तापक्ष के गुलाम होने का सबूत है। पुलिस अपना काम छोड़कर भाजपा का जीहुजूरी करने में लग रही इससे साफ जाहिर है कि उत्तर प्रदेश में कानून का नहीं बीजेपी का कानून चल रहा है योगी सरकार भले कानून राज होने का दावा ठोकते हैं लेकिन सच्चाई यह है कि भाजपाइयों का राज चल रहा है।

इसी भाजपाइयों की गुंडागर्दी को खत्म करने के लिए ओमप्रकाश राजभर ने भागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया है और इसे मजबूत करने के लिए आठ पार्टियों का साथ भी मिल चुका है। इसी सिलसिले में ओमप्रकाश राजभर ने पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की थी जिसके बाद उत्तर प्रदेश में सियासी हलचल मच गया है।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इस घटना की निन्दा की और कहा कि स्थानीय पुलिस को अब वर्दी उतारकर भाजपा का झंडा-डंडा उठा लेना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here