Tuesday, December 1, 2020
Home Thought अखिल भारतीय राजभर संगठन का 22 मूलमंत्र, जिसे फाॅलो कर लिया तो...

अखिल भारतीय राजभर संगठन का 22 मूलमंत्र, जिसे फाॅलो कर लिया तो समाज में बहुत बड़ा परिवर्तन देखने को मिलेगा।

अखिल भारतीय राजभर संगठन का 22 मूलमंत्र, जिसे फाॅलो कर लिया तो समाज में बहुत बड़ा परिवर्तन देखने को मिलेगा।

हरिश राजभर ने बताया कि विश्व राजभर/भर फॉउंडेशन व अखिल भारतीय राजभर संगठन के सभी बंधुओ को समाज की सफलता के लिये निम्नलिखीत 22 मूलमंत्र व दिशा निर्देश दिया जाता है।

  • आपके आसपास यदि कोई बच्चा पढने मे बहुत तेज हो और गरीब हो तो अपने कुछ सहयोगीयो के साथ मिलकर उसके लिये पाठ्य समग्री का क्रय कर उस बालक या बालिका को प्रदान करें।
  • यदि कोई बालिका पढाई मे प्रवीण मालुम दे तो उसके लिये पाठ्य सामग्री क्रय के साथ साथ उसके कुछ माह के फीस को भी भरा जायें।
  • सभी बच्चो को लगातार पढाई व कैरीयर के प्रति जागरुक करें।
  • यदि किसी व्यक्ति को अस्पताल मे ऐडमिट होने संबधी समस्या हो तो उसका निराकरण करें। जादा सीरीयस केस मे ” मानव हेल्पिंग हैंड” की मदद से सभी लोग रु 50 से रु 500 तक का मदद करें।
  • आपके आसपास के अपने समाज के लोगो के साथ मिटींग कर करीयर कॉउंसलिंग के साथ उनके सांविधानिक संबधी अधिकारो की चर्चा करें। रोजगार के अवसर की तालाश करें।
  • यदि समाज मे आपसी विवाद हो तो मिल बैठ कर सुलह करने को प्रेरित करें। यदि कोई सफल बिजीनेस मैन हो या सरकारी नौकरी करता हो या अपने क्षेत्र मे सफल व्यक्ति तो उससे जलन व ईर्शा भाव ना रखें उनका सम्मान करें और उनसे सफलता के टिप्स लें।
  • यदि समाज मे आपसी विवाद हो तो भी समाज के किसी एक व्यक्ति पर हो रहे अत्याचार को मुक दर्शक की तरह देखने के बजॉय एक सुर मे कानुन के दायरे मे विरोध करें क्योकि अगली बार आपका नंबर हो सकता है। अत: यफ.आई.आर. कराने मे मदद करें।
  • जैसा कि अपने प्रदेश मे रोजगार के आसार कम है अत:समाज मे छोटी छोटी गोष्ठी का आयोजन कर दुसरे राज्यो मे रोजी रोजगार की संभावना पर चर्चा करें।
  • यदि अपने प्रदेश मे या किसी और प्रदेश मे भी कोई भाई किसी कंपनी, फैक्टरी या अन्य संस्थान मे नौकरी करता हो तो कोशीश करें कि अपने समाज के जादा से जादा लोगो को उसमे नियुक्त करवायें।
  • यदि कोई भाई विदेशो मे अच्छे संस्थान मे कार्यरत हो तो उसे छुपाने की बजॉय उसमे जादा से जादा अपने समाज की नियुक्ति करवाने मे प्रयत्नशील रहें।
  • समाज मे कोई गरीब है तो उसे निचा ना दिखायें, उस पर ना हसें या कमेंट ना करें या खुद पर घमंड ना करें और अपने पैसे का अनायास प्रदर्शन कर उसे निचा ना दिखायें।
  • कोई अनायास आपसे बहस करें या आपको निचा दिखायें तो इसे इगो का प्रश्न ना बनायें बल्कि उसे नादान समझ कर मॉफ करें। शोशल मिडीया या फेसबुक या वाट्सऐप पर गाली गलौज ना करें, और अपने को होशीयार या श्रेष्ठ बनने का दावा ना करें।
  • समाज का हर व्यक्ति किसी भी व्यक्ति के खेतो के मेडो को अनायास नुकसान पहुचाकर नया विवाद पैदा ना करें और शांतिप्रिय जीवन जीने का प्रयत्न करें।
  • समाज के किसी गरीब के घर यदि कन्या की शादी हो तो बिना बुलाये वहा जाकर बिना कुछ जलपान किये अपने क्षमतानुसार कन्या को उपहार भेंट करें। समाज का कोई युवक या युवती शादी योग्य हो तो संगठन के “वर-वधु वाट्सऐप ग्रुप” जो लगभग कुल 6-7 ग्रुप है उनकी मदद लें और योग्य शादी कराने मे मदद करें। और उसमे लगातार ऐक्टीव रहे।
  • सति प्रथा की तरह यह दहेज प्रथा भी समाज में एक बदनुमा धब्बा है अत: इस प्रथा का त्याग करें बल्कि कन्या के शिक्षा को ही दहेज मानें। दहेज प्रथा को समाज से मिटाने का हर संभव प्रयास करें।
  • बहुभोज प्रथा समाज पर एक बोझ है अत: कोशिस करें कि बहुभोज प्रथा को कट्टरता से लागु ना करें और कर्ज लेकर बहुभोज की दावत ना दें, कर्ज से किया गया बहुभोज गरीब तकबे को और गरीब बनाता है।
  • राजभर समाज के लोग एक दुसरे को भाई माने और बंधुता का प्रचार कट्टरता के साथ करें। “राजभर राजभर भाई भाई ” विचार को फैलाये।
  • यदि एक राजभर भाजपा या सुभासपा या बसपा या सपा मे हो तो भी उससे नफरत ना करें कोई भी भाई किसी भी पार्टी मे रहे लेकिन जब बात राजभर व्यक्ति की हो या समाज के किसी व्यक्ति पर आपदा आये तो पार्टी को भुलकर एकजुट उसकी मदद करें, पहले आप राजभर है बाद मे आप पार्टी से है।
  • एक दुसरे के बारे मे गलत बात ना करें, या किसी को किसी और के बारे मे नेगेटीव बात बोलकर लडाने का, या झगडा कराने का, या गाली गलौज कराने का काम ना करें। यदि कोई आपसे किसी की बुराई करता है तो आप उसे कहे कि आप अपने किये गये कार्य को आगे बढायें। किसी को सोसल मिडीया मे ट्रोल करना या गाली गलौज करना यह उसके परिवार के वर्तमान संस्कार को दिखाता है, अत: कोई आपको किसी के बारे मे गलत बात करता है तो तुरंत सतर्क हो जाये वह आपको लडा कर खुद छुपकर मजा लेगा और सोसल मिडीया पर गलत बात करने पर देश मे रोजाना सैकडो पुलिस केस दर्ज हो रहे है।
  • अयोध्या जजमेंट को भी ध्यान पुर्वक पढें और इससे संबधित याचिका सुप्रीम कोर्ट मे दाखिल की गयी थी और अब उसी से संबधित याचिका मंदीर कमेटी मे नुमांयदगी के लिये भी डाली जानी विचाराधीन है। राजभर इतिहास का प्रचार प्रसार अन्य समाज मे भी करें और ऱाजभर समाज के इतिहास के दस्तावेज से जुडा विडीयो उन्हे दिखायें। खासी समाज बडे इतिहासकारो पर श्री हरिश राजभर जी व संगठन द्वारा “राजभर इतिहास संरक्षण” हेतू मुकदमा किया गया है और भविष्य मे अन्य इतिहास को नुकसान पहुचाने वाले लोगो पर भी मुकदमा तय है अत: इतिहास के प्रति जागरुक रहे और इतिहास के असली श्रोत जिसे गजेटीयर व ऑर्कियालॉजी सर्वे रिपोर्ट को जादा से जादा पढें और लोगो को पढवाये।
  • श्री वकील साहब द्वारा आरक्षण से संबधित याचिका पी.यम.ओ. मे दाखिल किया गया था जिसका निस्तारण डेढ वर्ष बाद किया गया था, और अगला याचिका भी तैयार है जो मा. हाईकोर्ट मे फॉईल कि जायेगी। वर्तमान मे राजभर समाज के बहुसंख्यक लोगो का जीवन स्तर बहुत दयनीय है अत: मीणा या गुर्जर जाति की तरह आरक्षण के प्रति जागरुक कर लगातार आवाज उठाये।
  • नशा मुक्ति व उन्मूलन के कार्यक्रम तथा अभियान समाज को जागरूक करने के लिए किया जाना चाहिए क्योंकि शराब गांजा भांग इत्यादि का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने के साथ-साथ काफी खर्चीला व महंगा होता है जिससे दूर रहकर स्वास्थ्य तथा शिक्षा जैसी महत्वपूर्ण आवश्यकता की पूर्ति की जा सकती है। शिक्षित होने से लगभग लगभग सारी समस्याओं का समाधान किया जा सकता है।
rajbharinindiahttps://rajbharinindia.in
My name is Rameshwar Rajbhar Mau utter pradesh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

केन्द्रीय कार्यालय रसड़ा बलिया में सुभासपा की शिक्षण प्रशिक्षण कार्यकर्त्ता बैठक हुई

आज दिनांक 18 नवंबर 2020 को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी द्वारा आयोजित शिक्षण प्रशिक्षण कार्यकर्ता बैठक केंद्रीय कार्यालय रसड़ा बलिया में सम्पन्न...

विकलांग दम्पति से नहीं मिले विकलांग कल्याण मंत्री, राह देखती रह गयी बेचारी

सुल्तानपुर : विकलांग दम्पति से नहीं मिले विकलांग कल्याण मंत्री श्री अनिल राजभर , दोनों दंपति पलकें बिछाए राह देख रहे थे...

जीतेंद्र राजभर के बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य का जिम्मेदारी सुशांत राज भारत ने लिया।

बलिया: पिछले 6 अगस्त 2020 को बलेऊर सहतवार के जितेंद्र राजभर की हत्या कुछ निरंकुश हत्यारों के द्वारा की गई थी। इस...

Recent Comments