Monday, September 28, 2020
Home News राजभर समाज द्वारा कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करने...

राजभर समाज द्वारा कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करने की मांग

Anil%2BRajbhar%2Bsuspended राजभर समाज द्वारा कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करने की मांग

News : अखिल भारतीय राजभर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऐडवोकेट जयप्रकाश राजभर ने गृहमंत्री माननीय श्री अमित शाह जी को मांग पत्र होम मिनिस्ट्री मे भेजा है जिसने मांग किया गया है कि महाराजा सुहलदेव पर श्री अजय देवगन द्वारा बन रही फिल्म का माननीय श्री अनिल राजभर जी ने समर्थन किया है। यह जानते हुये कि इस फिल्म में हमारे देवता तुल़्य महाराजा सुहेलदेव को सिंह बताया जा रहा है जिससे पूरे देश के राजभर समाज मे आक्रोश व्याप्त है अत: श्री अमित शाह जी ने निवेदन किया गया है कि मंत्री जी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया जाये।
इस मांग पत्र में लिखा है कि हम प्रार्थीगण BHAR जाति/समुदाय से हैं जो उत्तर प्रदेश के मूलनिवासी है। दिनांक 15.12.2019 को शाम लगभग 7 बजे हमें अमर उजाला हिंदी समाचार पत्र के माध्यम से पता चला कि श्री अजय देवगन जी कहा है कि वे एक फिल्म बनाने जा रहे हैं जिसमें महाराजा सुहेलदेव को सिंह जाति/समुदाय के रूप में दर्शाया गया है लेकिन आपको तो पता है कि महाराजा सुहेलदेव भर जाति के थे और आपने अपने भाषण में कई बार इस सत्य को कहा है। सरकारी गजेटियर्स के अनुसार महाराजा सुहेलदेव गोंडा और बहराइच के भर जाति के थे। जिन्होंने सैयद सलार मसूद गाजी के साथ लड़ाई लड़ी। बहराइच जिले का पुराना नाम भर-रायच है जो भर से उत्पन्न हुआ था।
यूपी सरकार की प्राथमिक कक्षा की किताब (6वीं कक्षा पृष्ठ संख्या 4) स्पष्ट रूप से बताती है कि महाराजा सुहेलदेव भर/राजभर जाति से थे । यूपी सरकार ने लखनऊ शहर में महाराजा सुहेलदेव राजभर की बड़ी प्रतिमाएं स्थापित की है और यहां तक सरकार ने साइन बोर्ड भी लगवाया है जिस पर महाराजा सुहेलदेव राजभर लिखा है। भर समुदाय प्रत्येक वर्ष के 10 जून को महाराजा सुहेलदेव विजय दिवस के रूप में मनाता है।हम राजभर समुदाय के लोग महाराजा सुहेलदेव को देवता/भगवान के रूप में पूजा करते हैं। महाराजा सुहेलदेव भर/राजभर एक राजा और एक योद्धा के रूप में महान धार्मिक व्यक्ति थे और उन्होंने उत्तर प्रदेश के लगभग हर जिले में वैदिक परंपरा और हिन्दू संस्कृति , पूजा और आदर्शों के उत्कृष्ट पुनरुत्थान के लिए श्रद्धा और सम्मान प्राप्त किया है। महाराजा सुहेलदेव राजभर का मंदिर जो कि चितौड़ में अष्टचक्र झेल नामक झील के पास बहुत दूर तक स्थित है।
मिरात-ए-मसुदी में उनका उल्लेख सुहेलदेव की कथा के रूप में फारसी भाषा में मिरात-ए-मसुदी में मिलता है। ऐतिहासिक और सलार मसूउद की जीवनी है। यह मुगल सम्राट जहांगीर (आरा 1605-1627) के शासनकाल के दौरान अब्द-उर-रहमान चिश्ती द्वारा लिखा गया था। बहराइच का युद्ध महाराजा सुहेलदेव और गाजी सैयद सलार मसूद की सेनाओं के बीच एक निर्णायक युद्ध था।
श्री अजय देवगन जी के साक्षात्कार में महाराजा सुहेलदेव को अन्य जाति के रूप में संदर्भित किया गया था जो कि आपत्तिजनक है क्योंकि महाराजा सुहेलदेव भर/राजभर जाति से संबंधित थे। इससे हमारे समुदाय को धार्मिक और सांस्कृतिक भावनाओं को आहत किया है।
कुछ वर्ष पूर्व श्री अमिश त्रिपाठी जी द्वारा भी महाराजा सुहेलदेव जी को किसी अन्य जाति का बताया गया था। जिसका हमारे समाज के समाज सेवक वा अधिवक्ता श्री जय प्रकाश राजभर द्वारा व समाज के लोगों के द्वारा विरोध किया गया था। जिससे उन्होंने अपनी पुस्तक को रोकना पड़ा। अब फिर हमारे धार्मिक भावनाओं को भड़काया जा रहा है और सरकारी दस्तावेजों को नजरंदाज कर महाराजा सुहेलदेव राजभर को किसी और जाति का बताया जा रहा है जो घोर निंदनीय है।
दिनांक 07.01.2020 को श्री अनिल राजभर जी कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश ने बयान दिया कि यदि महाराजा सुहेलदेव जी को सिंह यानी की वैस क्षत्रिय जाति का बताया जाता है तो उसका विरोध राजभर समाज को नहीं करना चाहिए और तो और श्री सुनील बंसल साहब भी उस प्रोग्राम में उपस्थित थे।और उन्होंने भी सहमति जताई और वही श्री सुनील बंसल साहब वाकायदा श्री अजय देवगन जी से मुलाकात कर फूल गुलदस्ता भेंट देते हैं और हमारे समाज के देवता महाराजा सुहेलदेव राजभर पर फिल्म बनाने के निर्णय पर सहमति जताई जाती है जिसका राजभर समाज पुरजोर विरोध करता है और विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से यह पता चलता है कि समाज के लोगों ने जोर-शोर से इस फिल्म का विरोध कर रहे हैं और कई लोगों ने अपने अपने जिले के डीएम साहब को ज्ञापन भी इस संदर्भ में दिया है।
अतः श्री अमित शाह जी से निवेदन है कि हम एक भर जाति/समुदाय के रूप में आपका समर्थन करना पसंद करेंगे यदि सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार तथ्यों को सही ढंग से आगे रखा जाता है और चुंकि पुरे देश का राजभर समाज श्री मंत्री जी के खिलाफ गया है आपसे निवेदन है कि श्री अनिल राजभर जी को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करे ताकि राजभर समाज के साथ न्याय हो सके।
rajbharinindiahttps://rajbharinindia.in
My name is Rameshwar Rajbhar Mau utter pradesh

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

विकलांग दम्पति से नहीं मिले विकलांग कल्याण मंत्री, राह देखती रह गयी बेचारी

सुल्तानपुर : विकलांग दम्पति से नहीं मिले विकलांग कल्याण मंत्री श्री अनिल राजभर , दोनों दंपति पलकें बिछाए राह देख रहे थे...

जीतेंद्र राजभर के बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य का जिम्मेदारी सुशांत राज भारत ने लिया।

बलिया: पिछले 6 अगस्त 2020 को बलेऊर सहतवार के जितेंद्र राजभर की हत्या कुछ निरंकुश हत्यारों के द्वारा की गई थी। इस...

सुभासपा की मांग समाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करें, समाज का एक बहुत बड़ा तबका नहीं उठा रहा आरक्षण का लाभ

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने समाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट लागू करने की मांग...

योगी सरकार सदन में किसानों की समस्याओं पर चर्चा करने के बजाय प्रदेश की जनता को शायरी सुनाने में लगी है- ओमप्रकाश राजभर

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने बीजेपी पर तंज कसते हुए बोला कि योगी सरकार सदन में किसानों...

Recent Comments